वाराणसी के पुजारी क्यों भड़के सारा अली खान पर, जानने के लिए क्लिक करे - newsfrom360.in - News, automobile, technology and more
वाराणसी के पुजारी क्यों भड़के सारा अली खान पर, जानने के लिए क्लिक करे

वाराणसी के पुजारी क्यों भड़के सारा अली खान पर, जानने के लिए क्लिक करे

Share This

वाराणसी के पुजारी क्यों भड़के सारा अली खान पर, जानिए पूरा सच 

वाराणसी के पुजारी क्यों भड़के सारा अली खान पर, जानने के लिए क्लिक करे

वेदों में जीवन के चार मकसद बताए गए हैं – धर्म, अर्थ, काम, मोक्ष. धर्म यानि नैतिकता. न्यायपूर्ण होना और अपने कर्त्तव्य को निभाना. इंसानियत को अपनाना. किसी दूसरे को दुःख ना पहुंचाना. बात समझने में इतनी मुश्किल नहीं लगती. इसे समझने के लिए राम के जीवन को देखा जा सकता है. गीता, क़ुरान, हदीस, बाइबिल, गुरु ग्रंथ साहिब जैसी पुस्तकों का सहारा भी लिया जा सकता है. लेकिन जैसे ही धर्म का मतलब मज़हब हो जाता है, तो बात सरल नहीं रहती. रस्मो-रिवाज़, पूजा पद्धति, कर्मकांड जैसा बहुत कुछ जुड़ने लगता है. मामला उलझने लगता है. पिछले कुछ दिनों में सारा अली खान का मामला भी उलझ गया.

सारा एक बॉलीवुड एक्ट्रेस हैं. ‘केदारनाथ’ और ‘लव आज कल’ जैसी फिल्मों से दर्शकों की नज़रों में आ चुकी हैं. वे एक्टर सैफ अली खान और एक्ट्रेस अमृता सिंह की बेटी हैं. कोरोना वायरस के चलते कई बॉलीवुड सेलेब्रिटी ने खुद को घरों में बंद कर लिया है. लेकिन सारा बनारस में टूर गाइड बनी हुई थीं. इंस्टाग्राम पर वे लोगों को बनारस की गलियों से रू-ब-रू करवाती हुई दिखीं. सलवार सूट पहने हुए. गले में फूलों की माला, और माथे पर टीका. वे लोगों को दिखा रही थीं बनारस की रंग-बिरंगी चूड़ियां.




वे यहां अपनी फिल्म ‘अतरंगी रे’ की शूटिंग के लिए आई हुई हैं. फिल्म को डायरेक्ट रहे हैं ‘तनु-वेड्स-मनु’ से मशहूर हुए डायरेक्टर आनंद एल राय. सारा के साथ दिखाई देंगे तमिल सिनेमा के एक्टर धनुष, जिन्हें हिंदी फिल्म ‘रांझणा’ में देखा गया था. उनके काम को काफी पसंद किया गया था. 2011 में उनका गाना ‘वाय दिस कोलावेरी डी’ इंटरनेशनल लेवल पर पॉपुलर हुआ था.

गलियों में घूमने के अलावा सारा चली गईं काशी विश्वनाथ मंदिर. दर्शन करते हुए उनके साथ उनकी मम्मी अमृता सिंह भी थीं. उन्होंने ‘गंगा आरती’ में भी हिस्सा लिया. आप कहेंगे कि इसमें कौनसी बड़ी बात है. हर रोज़ हज़ारों लोग यहां की हवा में तैरता हुआ भक्तिभाव महसूस करने आते हैं. केवल भारत के नहीं, बल्कि विदेशी टूरिस्ट भी यहां आते हैं. लेकिन जब सारा के मंदिर में दर्शन की बात फैल गई, तो विवाद शुरू हो गया.
वाराणसी के पुजारी क्यों भड़के सारा अली खान पर, जानने के लिए क्लिक करे
image source: www.thelallantop.com

काशी विकास समिति और स्थानीय पुजारियों ने गैर-हिंदू के मंदिर में आने पर आपत्ति ज़ाहिर की
काशी विकास समिति के महासचिव ने कहा कि
“मंदिर में सारा का आना परंपराओं और स्थापित मानदंडों के खिलाफ है. इससे मंदिर की सुरक्षा पर भी सवाल उठता है, जहां लगे साइन बोर्ड पर यह स्पष्ट तौर पर लिखा हुआ है कि मंदिर में ‘गैर-हिंदुओं’ का प्रवेश प्रतिबंधित है.”
कहा कि कुछ पुजारियों ने ‘अच्छी दक्षिणा’ और ‘मुफ्त में प्रचार’ के चलते मानदंडों का उल्लंघन किया है. काशी विकास समिति ने अब सारा के मंदिर दौरे की जांच करने की मांग की है. इसके लिए जिम्मेदार व्यक्तियों के खिलाफ एक्शन लेने की बात तक कह डाली. काशी विद्वत परिषद ने भी ऐतराज़ जताया है. कहा है कि काशी विश्वनाथ मंदिर के पुजारियों ने अगर स्पर्श दर्शन कराया है, तो यह गलत है. कुछ स्थानीय पुजारियों ने भी अपना रोष जाहिर किया है. राकेश मिश्रा नामक एक पुजारी ने कहा,

“हालांकि हिंदू धर्म में उनकी रुचि की हम सराहना करते हैं, लेकिन बात यह है कि वह मुसलमान हैं और धार्मिक संस्कारों में उन्हें भाग नहीं लेना चाहिए था. उनके लिए यह सब कुछ बेहद ‘रोमांचक और मजेदार’ होगा, लेकिन हमारे लिए यह धार्मिकता का मामला है. सारा अपने पिता सैफ अली खान के धर्म से जानी जाएंगी, जो एक मुस्लिम हैं.”
आगे की जानकारी जानने के लिए क्लीक करे : http://bit.ly/390gwHT 

News source: www.thelallantop.com

Also see:





No comments:

Post a comment